PAK एयरस्पेस बंद होने से 100 मिलियन डॉलर का नुकसान, जाने और किस पे पड़ा असर


Asian Reporter Mail

पुलवामा में फरवरी में हुए आतंकी हमले के बाद शुरू हुए भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव की वजह से पाक ने अपने हवाई क्षेत्र को बंद कर लिया था। इसकी वजह से रोजाना तकरीबन 400 उड़ानों पर असर पड़ा। वहीं, इस्लामाबाद को 100 मिलियन डॉलर से ज्यादा का नुकसान उठाना पड़ा है। इस पूरे मामले से जानकार शख्स ने यह जानकारी दी।

व्यापक अध्ययन से पता चला कि हवाई क्षेत्र के बंद होने से एक दिन में लगभग 400 उड़ानें प्रभावित हुई हैं। इससे उड़ान के समय में भी वृद्धि हुई है क्योंकि विमान को पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र को बाईपास करना पड़ता है जिससे ईंधन खर्च, परिचालन लागत और रख-रखाव लागत बढ़ गई है।

एक व्यक्ति ने कहा, 'यह देखते हुए कि एक दिन में कुछ 400 उड़ानें प्रभावित हुई हैं और एक पर 580 डॉलर का चार्ज आता है तो यह माना जा सकता है कि सीएए के लिए अकेले ओवरफलाइट चार्ज के कारण रोजाना नुकसान 232,000 डॉलर होगा।' उन्होंने बताया कि यदि आप टर्मिनल नेविगेशन, विमान की लैंडिंग और पार्किंग के लिए शुल्क से नुकसान को जोड़ते हैं तो यह 300,000 डॉलर होता है।

शख्स ने बताया कि कुआलालंपुर, बैंकॉक और दिल्ली जैसे के लिए उड़ानों के निलंबन के कारण पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस भी प्रति दिन लगभग 460,000 डॉलर का नुकसान झेल रही है। इसके अलावा घरेलू उड़ानों को भी अधिक समय तक उड़ान भरने के कारण परिचालन और ईंधन लागत में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि सीएए और पीआईए के संयुक्त दैनिक घाटे लगभग 760,000 डॉलर हैं जिससे लगभग 100 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है।

उन्होंने कहा कि सीएए और पीआईए के संयुक्त दैनिक घाटे लगभग 760,000 डॉलर हैं जिससे लगभग 100 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है।

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

ट्रेंडिंग/Trending videos

मुद्दा गर्म है

नज़रिया

एशिया